कश्मीर के आईजी बोले- पुलवामा जिले में 1989 से आतंकी एक्टिव थे, 31 साल में पहली बार यहां कोई दहशतगर्द जिंदा नहीं बचा


  • कश्मीर के त्राल में सुरक्षाबलों ने 3 आतंकियों को मार गिराया, गुरुवार को भी सोपोर में 2 मारे गए
  • जम्मू-कश्मीर में आतंक विरोधी अभियान में इस महीने 15 एनकाउंटर में अब तक 46 आतंकी ढेर

दैनिक भास्कर

Jun 27, 2020, 09:40 PM IST

श्रीनगर. दक्षिण कश्मीर का पुलवामा जिला कभी आतंकियों का गढ़ कहा जाता था। यहां के त्राल में आतंकी कमांडर बुरहान वानी और जाकिर मूसा जैसे दहशतगर्द पैदा हुए। दोनों पहले ही सुरक्षाबलों के हाथों मारे जा चुके हैं। शुक्रवार को त्राल के चेवा उल्लार इलाके में 3 आतंकी ढेर हो गए। कश्मीर जोन के आईजी विजय कुमार ने बताया कि 1989 से त्राल में आतंकी सक्रिय थे, लेकिन अब यहां हिजबुल मुजाहीदीन या किसी दूसरे संगठन का कोई आतंकी मौजूद नहीं है, सभी मारे जा चुके हैं। ऐसा 31 साल में पहली बार हुआ।

पुलिस के मुताबिक, अवंतीपोरा के त्राल में आतंकियों के मौजूद होने का इनपुट मिला था। इसके बाद गुरुवार शाम को सेना, सीआरपीएफ और पुलिस ने इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया। सेना के ब्रिगेडियर वी महादेवन ने बताया कि हमने आतंकियों को सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। इस दौरान जवाबी कार्रवाई में 3 आतंकी मारे गए, शुक्रवार को इनके शव बरामद हुए।

अनंतनाग में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला

उधर, अनंतनाग जिले के बिजबेहरा में शुक्रवार को आतंकियों ने सीआरपीएफ की पार्टी पर फायरिंग की। इस हमले में एक जवान और 5 साल के बच्चे को गोली लगी। उन्हें फौरन अस्पताल ले जाया गया, लेकिन तब तक दोनों की मौत हो चुकी थी।

आतंकियों ने पदशाही बाग के पास सीआरपीएफ की टुकड़ी पर हमला किया। गोली लगने से इस बच्चे की मौत हो गई। 

जून में 15 एनकाउंटर में 46 आतंकियों का सफाया

इससे पहले गुरुवार को बारामूला जिले के सोपोर इलाके में भी 2 आतंकी ढेर कर दिए थे। जम्मू-कश्मीर में इस महीने 15 एनकाउंटर में अब तक 46 आतंकी मारे जा चुके हैं। आतंकियों के मददगारों को पकड़ने का सिलसिला भी जारी है। बडगाम के नरबल इलाके में बुधवार को आर्मी और पुलिस ने कार्रवाई कर लश्कर-ए-तैयबा के 5 मददगारों को गिरफ्तार किया था। इनका पाकिस्तान से कनेक्शन मिला है।

26 दिन में 15 एनकाउंटर

तारीखजगहआतंकी मारे गए
1 जूननौशेरा3
2 जूनत्राल (पुलवामा)2
3 जूनकंगन (पुलवामा)3
5 जूनकालाकोट (राजौरी)1
7 जूनरेबन (शोपियां)5
8 जूनपिंजोरा (शोपियां)4
10 जूनसुगू (शोपियां)5
13 जूननिपोरा (कुलगाम)2
16 जूनतुर्कवंगम (शोपियां)3
18-19 जूनअवंतीपोरा और शोपियां8
21 जूनशोपियां3
23 जूनबंदजू (पुलवामा)2
25 जूनसोपोर (बारामूला)2
25-26 जूनत्राल (पुलवामा)3
 कुल 46





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*