चक्रवात पर बैठक में मोदी को कराया था इंतजार, बोलीं ममता बनर्जी- दिल्ली जा रही हूं, PM ने दिया है समय


पेगासस जासूसी मामले के खुलासे के बाद से ही पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी केंद्र सरकार पर ताबड़तोड़ हमले कर रही हैं। अब यह खबर है कि ममता बनर्जी की मुलाकात जल्दी ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से होने वाली है। इस संबंध में ममता बनर्जी ने खुद जानकारी दी है। ममता बनर्जी ने कहा है कि वो रविवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के दौरे पर होंगी। ममता बनर्जी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें मीटिंग का समय दिया है। हालांकि, अभी यह साफ नहीं है कि बंगाल की सीएम की मुलाकात किस दिन या किस समय पीएम मोदी से होगी। पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच यह पहली वन टू वन मुलाकात होगी। 

बता दें कि सीएम 25 जुलाई को दोपहर तीन बजे कोलकाता से दिल्ली के लिए रवाना होंगी। सीएम 30 जुलाई को कोलकाता लौट आएंगी। इसी दौरान उनकी नेताओं के साथ बैठक होंगी। वह संसद भी जाएंगी। वहां भी नेताओं से मुलाकात करेंगी।

आपको याद दिला दें कि इससे पहले मई के महीने में चक्रवाती तूफान यास से हुए नुकसान के आंकलन के लिए आयोजित समीक्षा बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्ममंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनकड़ को करीब 30 मिनट तक इंतजार कराया था। बाद में बैठक में शामिल हुई बनर्जी ने चक्रवात से राज्य को हुए नुकसान की रिपोर्ट सौंपी थी। उस वक्त कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया था कि ममता बनर्जी उस वक्त उसी परिसर में थी। इसके बाद भी वे ज्यादा देर तक वहां पर नहीं रुकी और दूसरी मीटिंग में हिस्सा लेने की बात कहकर तुरंत वहां से निकल गई थीं।

विपक्षी दलों को एकजुट करने की कोशिश

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से तृणमूल कांग्रेस सरकार और केंद्र सरकार के बीच विभिन्‍न मुद्दों पर टकराव बढ़ा है। पश्चिम बंगाल में कानून व्‍यवस्‍था की स्थिति के मुद्दे पर केंद्र के रुख के खिलाफ भी ममता आक्रामक रुख अख्तियार कर चुकी हैं। उन्होंने विपक्षी दलों से कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए सभी को साथ आना होगा।  ममता बनर्जी ने हाल ही में कहा था कि ‘मैं नहीं जानती 2024 में क्या होगा…लेकिन इसके लिए अभी से तैयारियाँ करनी होंगी। हम जितना समय नष्ट करेंगे, उतनी ही देरी होगी। बीजेपी के ख़िलाफ़ तमाम दलों को मिल कर एक मोर्चा बनाना होगा। उन्होंने शरद पवार और चिदंबरम से अपील की थी कि वे 27 से 29 जुलाई के बीच दिल्ली में इस मुद्दे पर बैठक बुलाएं।

पेगासस मामले पर केंद्र सरकार को घेरा

ममता बनर्जी ने हाल ही में उजागर हुए पेगासस जासूसी मामले में भी केंद्र सरकार पर लगातार हमले किये हैं। पश्चिम बंगाल की सीएम ने सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध किया है कि वह पेगासस स्पाईवेयर का इस्तेमाल करके नेताओं, कार्यकर्ताओं, पत्रकारों आदि को निशाना बनाने वाले कथित जासूसी प्रकरण का संज्ञान ले। इसके अलावा ममता बनर्जी पेट्रोल-डीजल के बढ़े दाम और कोविड प्रबंधन को लेकर भी हाल के दिनों में केंद्र सरकार के खिलाफ खुलकर हमले बोलती रही हैं। 

संबंधित खबरें



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*