चालू वित्त वर्ष में राज्य को 30 हजार करोड़ के नुकसान का अनुमान, जालंधर-बठिंडा समेत कई जगह नियमों से खिलवाड़


  • पंजाब में अब तक कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके 5426 लोगों में 138 की मौत हो चुकी है
  • सोशल मीडिया पर लाइव आए मुख्यममंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले-लॉकडाउन बढ़ाने या हटाने पर फैसला अभी नहीं

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 11:45 AM IST

पंजाब में अब तक कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके 5426 लोगों में 138 की मौत भी हो चुकी है। हालात से निपटने के लिए लगे पांचवें फेज के देशव्यापी लॉकडाउन का मंगलवार को आखिरी दिन है। इससे पहले कि कोई फैसला आए, सोमवार देर शाम को फेसबुक पर लाइव आ मीडिया से रू-ब-रू हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि इस वित्तीय वर्ष के अंत तक राज्य को 30 हजार करोड़ रुपए का नुकसान होना अनुमानित है। लॉकडाउन बढ़ाने या खत्म करने के संबंध में कैप्टन ने कहा कि इस बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता। पंजाब में अभी कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं हुआ है। इसी से हम राज्य को बचाना चाहते हैं। इसी बीच आइए जानते हैं प्रदेश के प्रमुख शहरों में कैसे हैं हालात…

जालंधर: लोग बेरोक-टोक घूमते नजर आ रहे हैं। रविवार को भी शहर के सबसे व्यस्त रहने वाले ज्योति चौक, कंपनी बाग चौक, नकोदर चौक, फुटबाल चौक, शास्त्री मार्केट चौक सहित शहर के कई चौराहों पर नाके तो लगे हुए थे, लेकिन पुलिस वाले मौजूद नहीं थे। सड़कों पर चौपहिया, दुपहिया वाहन आराम से निकल रहे थे। अब पुलिस बाजारों और मोहल्लों में ड्रोन की सहायता से ऐसे लोगों को पकड़ेगी जो शारीरिक दूरी का पालन नहीं कर रहे हैं। दूसरी ओर अभी तक शारीरिक दूरी का उल्लंघन करने वाले 136 लोगों के चालान काटकर 2.72 लाख रुपए जुर्माना वसूला गया है।

बठिंडा: रिफाइनरी के गेट के बाहर हमेशा जलसे जैसा माहौल रहता है, वहीं रिफाइनरी में काम कर रहे प्राइवेट कंपनियों के मुलाजिम ट्रैवलिंग के दौरान मास्क का प्रयोग नहीं कर रहे। मजदूरों को जहां माल ढुलाई में लगी गाड़ियों में क्षमता से अधिक भरकर ले जाया जा रहा है। इस दौरान ट्रैफिक पुलिस कर्मी भी रिफाइनरी में काम कर रही गाड़ियों के चालकों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहे। भाकियू लक्खोवाल के शहरी प्रधान सुनील कुमार काका ने कहा कि एक तरफ जहां बिना मास्क शहर आने वाले लोगों से पुलिस जुर्माना वसूल रही है, वहीं रिफाइनरी में लगी गाड़ियां पुलिस की आंखों के सामने ही ट्रैफिक नियमों की अवहेलना कर सड़कों पर दौड़ रही हैं।

लुधियाना: जिले में रोजाना दहाई अंक में मामले आ रहे हैं। सोमवार को भी देर रात तक जिले में 18 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इनमें से सेंट्रल जेल की महिला कर्मी, डीएमसी की डॉक्टर समेत 10 लुधियाना और और बाकी आठ दूसरे जिलों के रहने वाले हैं। इसी के साथ जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 800 तक पहुंच गया है। तीन कॉलोनियां कंटेनमेंट जोन में हैं।
पठानकोट: पठानकोट में सिविल सर्जन ऑफिस 5वां कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। सेहत विभाग के पास आई 165 सैम्पलों की रिपोर्ट में इस कर्मी सहित पांच कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें से सिविल सर्जन ऑफिस में जो 61 वर्षीय व्यक्ति है, वह जिला फार्मासिस्ट अफसर है और इसका 30 वर्षीय बेटा नरोट मेहरा के सरकारी अस्पताल में डॉक्टर है। उसकी भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

पटियाला: जिले के गांव सदारनपुर तहसील पातड़ां के 55 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई, वहीं 15 लोग और कोविड पॉजिटिव के रूप में सामने आए। इसके बाद जिले में कोविड एक्टिव मरीजों की संख्या 165 हो गई है।
तरनतारन: तरनतारन जिले में एक ही परिवार के चार सदस्यों सहित कुल छह लोगों को रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। कुल 256 संदिग्ध मरीजों के सैंपलों की रिपोर्ट सिविल अस्पताल पहुंची थी। नए मिले मामलों में मास्टर कॉलोनी निवासी 64 वर्षीय बुजुर्ग महिला, उसके 37 वर्षीय बेटे, 32 वर्षीय पुत्रवधु व 14 वर्षीय पोती की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव निकली। बताया जाता है कि इस परिवार की कोई भी ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है।

गुरदासपुर: जिले में कोरोना मरीजों के लिए सुविधाएं बढ़ाते हुए जिला प्रशासन के साथ मिलकर काम करने वाले अबरोल मेडिकल सेंटर ने अस्पताल में इमरजेंसी सेवा शुरू की है। इसमें कोरोना वायरस सहित किसी भी तरह की भयानक बीमारी या स्थिति में इलाज का पूरा प्रबंध रहेगा। अस्पताल में निर्मित इमरजेंसी वार्ड का उद्घाटन विधायक बरिंदरमीत सिंह पाहड़ा ने किया।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*