चीन का सेल्समैन बनकर श्रीलंका पहुंचे हैं इमरान खान, झूठे फायदे गिना CPEC में लंका को फंसाने की कोशिश


पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इन दिनों श्रीलंका के यात्रा पर हैं। श्रीलंका की यात्रा पर पहुंचे इमरान खान वहां भी चीन के साथ संबंधों के फायदे गिनाते दिखाई दिए। यहां तक कि अपन झूठे वादों से लंका को चीन पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) में फंसाने की कोशिश करते हुए दिखाई दिए। श्रीलंका पहुंचे इमरान ने सीपैक की खूब सराहना की लेकिन उसकी खामियों पर चुप्पी साधे रखा।

खुद आतंकवाद को पनाह देने वाले इमरान खान ने कहा कि पाक और श्रीलंका आतंकवाद सहित आम समस्याओं को साझा करते हैं क्योंकि दोनों देशों को इस खतरे के कारण बहुत नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने दस साल तक सबसे ज्यादा आतंकवाद का सामना किया और लगभग 70000 लोग मारे गए।

कोलंबो में अपने श्रीलंकाई समकक्ष महिंदा राजपक्षे के साथ संयुक्त प्रेस को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पाकिस्तान बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव ऑफ चाइना का हिस्सा है और सीपीईसी इस कार्यक्रम की प्रमुख परियोजना है, जो कनेक्टिविटी और व्यापार के कई अवसर प्रदान करता है। प्रधान मंत्री इमरान खान ने श्रीलंका के लिए मध्य एशिया तक चीन पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर के माध्यम से व्यापार और कनेक्टिविटी बढ़ाने के तरीकों और साधनों को बढ़ाने पर जोर दिया।

इमरान खान ने कहा कि हमने उन क्षेत्रों पर चर्चा की, जहां हम पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच व्यापारिक संबंध बढ़ा सकते हैं और बाद में पूर्व द्वारा दी जा रही कनेक्टिविटी से अधिकतम लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान ने अपनी धरती से आतंकवाद को रोकने में श्रीलंका की मदद करने में अपनी भूमिका निभाई, जो विकास और पर्यटन को बाधित कर रहा था। उन्होंने कहा कि अगर आतंकवाद है तो कोई भी देश प्रगति नहीं कर सकता है।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*