जालंधर में कोरोना से 12वीं मौत, 24 घंटे में 4 पुलिस कर्मियों सहित 26 पॉजिटिव मिले; बढ़ते मामलों के मद्देनजर सूबे में फिर लग सकती है पाबंदी


  • पिछले करीब 8 दिन से रोज 60 से 80 के बीच नए मामले जुड़ रहे हैं, अब तक राज्य में 3242 लोग संक्रमित पाए जा चुके और कुल 73 लोगों की जान भी चली गई
  • लुधियाना में कंटेनमेंट जोन में बढ़ोतरी, फरीदकोट जिले के कोटकपूरा में लोगों ने अपने इलाके को कंटेनमेंट जोन से निकालने की मांग की

दैनिक भास्कर

Jun 16, 2020, 07:46 AM IST

जालंधर. कोरोना की महामारी को मात देने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन का सोमवार को पांचवें फेज का 15वां दिन है। राज्य सरकार पहले से ही 30 जून तक लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा वीकएंड पर कंप्लीट लॉकडाउन का आदेश भी लागू कर चुकी है। हालांकि इस फेज में लोगों को काफी सारी राहतें देने की कोशिश की गई है और इसका नतीजा ठीक नहीं रहा है। संक्रमण में आए दिन बढ़ोतरी हो रही है। पिछले करीब 8 दिन से रोज 60 से 80 के बीच नए मामले जुड़ रहे हैं। अब तक राज्य में 3242 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं और कुल 73 लोगों की जान भी चली गई।

इस पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का कहना है कि राज्य में पाबंदियों में छूट के बाद संक्रमण के मामलों में भारी उछाल देखा जा रहा है। ऐसे में फिर से लॉकडाउन और पाबंदियों की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि न सिर्फ महामारी के प्रसार पर रोक लगाने के लिए राष्ट्रीय लॉकडाउन के साथ देश की अर्थव्यवस्था में रुकावट आई है, बल्कि लोगों की आमदनी और बचत भी प्रभावित हुई है। कैप्टन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोविड संकट के मद्देनजर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का लाभ 6 महीने और बढ़ाने की अपील की है।

जालंधर जिले में पहली बार एक ही दिन में इतने ज्यादा लोग संक्रमित मिले

जालंधर जिले में साेमवार सुबह 8 लोगों को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इससे पहले रविवार को पहली 18 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इनमें गुरुवार को दम तोड़ चुकी कोट सदीक की महिला भी है। दिल की रोगी इस महिला का रविवार को परिजनों के दवाब में सेहत विभाग की टीम ने अंतिम संस्कार करवाया और देर रात उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाए जाने से परिवार के लोग भी दहशत में आ गए हैं। इसके अलावा होशियारपुर के दो, अमृतसर का एक और जालंधर के गांव शेखे का एक पुलिस मुलाजिम भी कोरोना संक्रमित मिले हैं। बाकी 13 जालंधर जिले से संबंधित हैं। इन्हें मिलाकर संक्रमितों की कुल संख्या 342 और मरने वालों की 12 हो चुकी है।

लुधियाना में मोहल्ला इस्लामगंज से सटा प्रेम नगर इलाका कंटेनमेंट जोन घोषित

लुधियाना में कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़ती ही जा रही है। अब वार्ड-63 प्रेम नगर को भी कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। मोहल्ला इस्लामगंज से सटे इस इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित करने के संबंध में सिविल सर्जन डा. राजेश बग्गा ने डीसी को लिखे पत्र में कहा है कि डायरेक्टर सेहत व परिवार भलाई विभाग (पंजाब सरकार) की गाइडलाइन के अनुसार यदि किसी क्षेत्र में 15 या उससे अधिक कोरोना संक्रमित पाए जाते हैं तो उस क्षेत्र कनटेंमेंट जोन घोषित करना पड़ता है। चूंकि प्रेम नगर से 18 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं, इसलिए इसे कनटेंमेंट जोन घोषित किया जाता है। इस क्षेत्र में सिर्फ मेडिकल इमरजेंसी या आवश्यक सेवाओं की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएं। स्वास्थ विभाग द्वारा इंटेंसिव हाउस टू हाउस सर्विलांस और कंटैक्ट ट्रेसिंग व सैंपलिंग की जाएगी।

काेटकपूरा के सुर्गापुरी को कंटेनमेंट जोन से बाहर निकाले जाने की मांग

कोटकपूरा में कंटेनमेंट जोन घोषित सुर्गापुरी इलाके में आज 100 के करीब लोग इकट्‌ठा हो गए। सूचना मिलने के बाद एसडीएम मेजर अमित सरीन, डीएसपी बलकार सिंह संधू और एसएचओ राजवीर सिंह संधू मौके पर पहुंचे। लोगों की मांग थी कि उन्हें कंटेनमेंट एरिया से आजादी दी जाए। एसडीएम ने आक्रोशित लोगों से बात की और बताया कि एक ही परिवार से जुड़े 15 लोगों की रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद मामले की गंभीरता को समझकर संक्रमितों के संपर्क में आने वालों की तलाश शुरू कर दी गई है। आवश्यकतानुसार सैंपल लेकर जांच कराई जाएगी। रिपोर्ट निगेटिव आने तक ऐसा करना जरूरी है। मोहल्ले के लोगों की जरूरत का सामान उनके घरों तक पहुंचाया जाएगा। फिलहाल यहां हर गली के बाहर बैरिकेड्स लगे हुए और तीन-तीन शिफ्टों में दो-दो पुलिस कर्मी हर गली के बाहर ड्यूटी पर डटे हुए हैं।

होम क्वारैंटाइन के नियम का उल्लंघन करने पर दो हजार रुपए तक जुर्माना

बठिडा में प्रशासन की तरफ होम क्वारैंटाइन के नियम का उल्लंघन करने पर दो हजार रुपए तक जुर्माना रखा गया है। साथ ही पुलिस को एफआईआर तक दर्ज करने के आदेश दिए गए हैं। इसके बावजूद कुछ लोग घरों से बाहर घूम रहे हैं, जबकि वो सैंपल दे चुके हैं। इसकी शिकायतें लगातार प्रशासन के पास पहुंच रही हैं।

तरनतारन में मिशन फतेह के तहत लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करने के लिए प्रचार गाड़ियों को रवाना करते डीसी प्रदीप कुमार सभ्रवाल।

अमृतसर समेत विभिन्न जिलाें में मिशन फतेह की शुरुआत हुई

  • अमृतसर में कोरोना वायरस को शिकस्त देने के लिए कैबिनेट मंत्री ओपी सोनी ने मिशन फतेह मुहिम की शुरुआत की। इस मिशन के तहत पूरे शहर में घूमकर लोगों को जागरूक करने के लिए पांच ई-रिक्शा गाड़ियों को रवाना किया गया। मंत्री सोनी और डीसी शिवदुलार सिंह ने कहा कि इस समय पूरी दुनिया इस खतरनाक महामारी से लड़ रही है। स्थिति गंभीर है। फिलहाल कोई इलाज संभव नहीं हो पाया है। ऐसे में कोरोना से डरने की जरूरत नहीं, सिर्फ कुछ सावधानियां बरतकर ही इस पर जीत हासिल की जा सकती है।
  • पठानकोट जिले के विभिन्न ब्लॉकों सहित पठानकोट व सुजानपुर के लिए जागरूकता वाहनों को डीसी गुरप्रीत सिंह खैहरा ने माधोपुर से हरी झंडी देकर रवाना किया। उन्होंने कहा कि कोरोना की बीमारी में योगदान डालने वाले लोगों को दो कैटेगरी में बांटा गया है। इन्हें कोरोना योद्धा व मिशन फतेह योद्धा का नाम दिया गया है।
  • तरनतारन में डीसी प्रदीप सभ्रवाल ने प्रबंधकीय कांप्लेक्स से मिशन फतेह के प्रचार वाहनों को रवाना किया। उन्होंने कहा कि 15 जून से 21 जून तक जमीनी स्तर पर सप्ताह मनाया जाएगा। इस दौरान कोरोना योद्धाओं को मिशन फतेह का बैच लगाया जाएगा। 16 जून को आंगनबाड़ी वर्कर बैच लगाकर घरों में दस्तक देंगी। 17 जून को जिले की पंचायतें कोरोना से लोगों को जागरूक करेंगी। 18-19 जून को एनजीओ संस्थाओं द्वारा लोगों को जागरूक किया जाएगा। 20 जून को पुलिस अधिकारी व कर्मचारी इस मुहिम का हिस्सा बनेंगे। 21 जून को नगर कौंसिल कार्यालय में जागरूकता प्रोग्राम होंगे।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*