नड्डा पर कांग्रेस का पलटवार- बिहार चुनाव में हार तय देखकर भाजपा को याद आया पाकिस्तान


कांग्रेस ने एक पाकिस्तानी सांसद के बयान को लेकर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा राहुल गांधी पर निशाना साधे जाने के बाद गुरुवार को उन पर पलटवार किया और आरोप लगाया कि बिहार विधानसभा चुनाव में हर तय देखकर भाजपा को फिर से पाकिस्तान की याद आने लगी है। पार्टी प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने यह भी कहा कि नड्डा को पाकिस्तान के बजाय भारत के टेलीविजन चैनल देखने चाहिए।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ”क्या भारतीय चैनल इतने खराब है कि भाजपा अध्यक्ष को पाकिस्तानी चैनल देखने पड़ते हैं। उन्हें भारत के चैनल देखने चाहिए। मैं उन्हें बार बार सलाह देना चाहता हूं कि वह पाकिस्तान की संसद के बजाय भारत की संसद पर ध्यान केंद्रित करें। क्या उन्हें पाकिस्तान में चुनाव लड़ना है?”

वल्लभ ने दावा किया, ”चुनाव के समय भाजपा को पाकिस्तान को याद आता है। इस बार फिर से पाकिस्तान याद आया क्योंकि बिहार के पहले चरण में महागठबंधन को 71 में से 55 से अधिक सीटें मिल रही हैं। भाजपा को पता है कि वे हार रही है।”

कांग्रेस नेता तंज कसते हुए कहा, ”जब देश के लोग रोजगार, कोरोना, बाढ़ और अर्थव्यवस्था की बात करते हैं तो भाजपा के नेता पाकिस्तान के चैनल देखने लगते हैं। बिहार में ‘केपीके (कश्मीर, पाकिस्तान और कब्रिस्तान) का मॉडल नहीं चलेगा। बिहार में सुशासन का मॉडल चलेगा।”

गौरतलब है कि नड्डा ने एक कथित वीडियो का हवाला देते हुए उन पर निशाना साधा जिसमें एक पाकिस्तानी सांसद कह रहे हैं कि विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को इस्लामाबाद ने इसलिए रिहा किया क्योंकि उसे भारत के हमले का डर सता रहा था।

नड्डा द्वारा ट्वीट किए गए वीडियो में पाकिस्तान के एक सांसद यह कहते सुने जा रहे हैं कि पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा की उपस्थिति में हुई एक बैठक में विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि अभिनंदन को रिहा नहीं किया गया तो ”हिन्दुस्तान 9 बजे रात को पाकिस्तान पर हमला कर रहा है।”

भाजपा अध्यक्ष ने इस वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया किया, ”कांग्रेस के युवराज ना तो हमारी सेना, ना हमारी सरकार और ना ही हमारे नागरिकों पर विश्वास करते हैं। उनके लिए उनके ‘सबसे विश्वसनीय देश पाकिस्तान की तरफ से पेश है। उम्मीद है कि अब उन्हें समझ आएगा।”



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*