‘नरेंद्र मोदी के कंधों पर बंदूक रख लड़ाई में उतरने की न करें कोशिश, काम करें’


भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने मंगलवार को आंध्र प्रदेश के पार्टी नेताओं से कहा कि वे केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के सहारे न बैठे रहें, बल्कि 2024 में राज्य में सत्ता पाने के लिए पूरे दमखम के साथ काम करें।

उन्होंने कहा, ‘‘मोदी के कंधों पर बंदूक रखकर लड़ाई में उतरने की कोशिश न करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो आप उसी एक प्रतिशत (2019 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिले वोट) पर रहेंगे।’’

माधव ने कहा, ‘‘मोदी अगले 10-15 साल तक प्रधानमंत्री रहेंगे। हम उनके सुशासन और लोगों के अनुकूल उनके कार्यक्रमों से लाभ अर्जित करेंगे, लेकिन केवल इतना ही पर्याप्त नहीं है। उद्देश्य एक शक्तिशाली ताकत के रूप में उभरने का है।’’

भाजपा महासचिव एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे जिसमें विधान परिषद सदस्य सोमू वीरराजू ने भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष के रूप में दायित्व संभाला। माधव ने कहा कि आंध्र प्रदेश में विपक्ष की स्थिति में एक खालीपन है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमें उस खालीपन को भरना है और 2024 में सत्ता में आने के लिए पूरे दमखम के साथ काम करना है।’’ भाजपा नेता ने कहा, ‘‘हर चीज के लिए दिल्ली (नेतृत्व) से न कहें। जो भी जरूरत होगी, दिल्ली करेगी, लेकिन पार्टी की स्थानीय इकाई को मेहनत करनी चाहिए और लोगों के लिए लड़ना चाहिए।’’

‘केंद्रित जांच रणनीति का मिल रहा है लाभ’: आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि कोविड-19 मामलों का पता लगाने के लिए ‘‘केंद्रित जांच’’ रणनीति का फायदा मिल रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि राज्य कोविड-19 के मामलों को कम रखने में सफल रहा है जबकि ‘‘कड़े क्लीनिकल प्रबंधन’’ से यह सुनिश्चित हुआ है कि मृत्यु दर एक प्रतिशत से नीचे बनी रहे।

रेड्डी ने कहा कि समुदाय आधारित लक्षित जांच, संक्रमितों के सम्पर्क में आये लोगों की जांच और निरुद्ध क्षेत्रों में जोखिम वाले सभी मरीजों की जांच करने पर सरकार का जोर रहा है।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि राज्य का हर समय मुख्य उद्देश्य सही और उच्च गुणवत्ता वाला इलाज मुहैया कराकर जीवन को बचाना है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम न केवल अधिक जांच कर रहे हैं, बल्कि अधिक केंद्रित जांच कर रहे हैं। हम उन क्षेत्रों और समूहों में जांच कर रहे हैं, जहां हमें लगता है कि अधिक मामलों का पता लगने की आशंका है। किसी भी समय हमारा उद्देश्य मामलों की जल्द पहचान करना, सही और उच्च गुणवत्ता की देखभाल और उपचार मुहैया कराकर जीवन बचाना है।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। में रुचि है तो



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई






Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*