न दो गज दूरी, न ही मास्क- रोहित सरदाना के पोस्ट पर बोले लोग, तस्वीर शेयर कर करने लगे ट्रोल


वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना ने दिल्ली हाईकोर्ट के उस फैसले का जिक्र करते हुए एक ट्वीट किया, जिसमें कहा गया है कि अगर कोई शख्स अपनी कार में अकेला भी है, तब भी उसे मास्क लगाना होगा। सरदाना ने अपने ट्वीट में इस फैसले के बहाने चुनावी रैलियों में कोविड-19 नियमों को तोड़ने को लेकर ताना मारा।

सरदाना ने लिखा, ‘गाड़ी में आदमी अकेला हो तो मास्क लगाए, वरना जुर्माना भरे। लेकिन चुनावी रैली में हो तो ना मास्क लगाए, ना दो गज की परवाह करे, क्योंकि वहाँ नेता जी हैं, कोई जुर्माना नहीं लगेगा।’

रोहित सरदाना के इस ट्वीट पर तमाम यूजर्स भी अपनी प्रतिक्रिया देने लगे। कई यूजर सरदाना की ही एक तस्वीर शेयर कर उन्हें नसीहत देते दिखे। इस तस्वीर में सरदाना अपने तमाम पत्रकार साथियों के साथ बैठे हैं और खुद मास्क नहीं लगाया है। हालांकि यह तस्वीर कब की है यह साफ नहीं है। कुछ यूजर्स ने इसे पुराना बताया।

रोहित सरदाना के ट्वीट पर छत्तीसगढ़ से कांग्रेस की विधायक शकुंतला साहू ने लिखा, ‘जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं। जहाँ-जहाँ चुनाव है, वहाँ यह अप्लाई नहीं। जैसे फिलहाल पश्चिम बंगाल चुनाव है, वहाँ कोरोना वायरस छुट्टी पर है। ये हमारे माननीय प्रधानमंत्री एवं गृह मंत्री का मानना है।’ शिल्पा राजपूत नाम की यूजर ने लिखा ‘नेता जी की जगह मोदी जी या अमित शाह भी लिख सकते हो।’

सरदाना के ट्वीट पर तंज कसते हुए जितेश सिंह नाम के यूजर ने लिखा ‘जो हमारे देश के प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री रैलियों में भीड़ इकट्ठा करा रहे, वही कल मास्क न पहनने पर जुर्माना की घोषणा करेंगे, दो गज की दूरी के पालन करने का ढोंग दिखायेंगे और लॉकडाउन की घोषणा कर गरीबों को फिर मारेंगे।’ तुषार अग्रवाल ने सरदाना की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा ‘भाई खुद तो पहन लो पहले, फिर ज्ञान देना…।’

आपको बता दें कि कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच एक दिन पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने अहम फैसला दिया था। कोर्ट ने कहा था कि सबको मास्क लगाना अनिवार्य है। अगर कोई व्यक्ति कार में अकेले भी यात्रा कर रहा है तब भी मास्क लगाना अनिवार्य है। इस फैसले को लेकर लोगों की मिली जुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है।








Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*