पीएम मोदी आज शाम राष्ट्र को करेंगे संबोधित, इन मुद्दों पर कर सकते हैं बात


PM Narendra Modi Speech Today, PM Modi Address to Nation Today LIVE Updates: पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन के बाद राजनीतिक पार्टियों ने मोदी सरकार पर निशाना साधना शुरु कर दिया है।कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने  शायराना अंदाज में पीएम मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने शाहब ज़ाफरी के शेर का जिक्र करते हुए लिखा है,”तू इधर उधर की न बात कर, ये बता कि क़ाफ़िला कैसे लुटा, मुझे रहज़नों से गिला तो है, पर तेरी रहबरी का सवाल है।

बता दें कि पीएम मोदी ने अपने संबोधन में एक बार फिर से वोकल फॉर लोकल पर जोर दिया। उन्होंंने कहा कि हम आत्मनिर्भर भारत के लिए दिन रात काम करेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि, हम सारी एहतियात बरतते हुए Economic Activities को और आगे बढ़ाएंगे। हम आत्मनिर्भर भारत के लिए दिन रात एक करेंगे। हम सब ‘लोकल के लिए वोकल’ होंगे। इसी संकल्प के साथ हम 130 करोड़ देशवासियों को मिलजुल कर के, संकल्प के साथ काम भी करना है, आगे भी बढ़ना है।

उन्होंने देश में गरीबों की मदद के लिए प्रधानमंत्री गरीब परिवार कल्याण अन्न योजना का विस्तार करने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि त्योहारों का ये समय, जरूरतें भी बढ़ाता है, खर्चे भी बढ़ाता है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक, यानि नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाए। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के इस विस्तार में 90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च होंगे। अगर इसमें पिछले तीन महीने का खर्च भी जोड़ दें तो ये करीब-करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपए हो जाता है। इस दौरान गरीब परिवारों को राशन के साथ-साथ एक किलो चना भी दिया जाएगा।

Weather Forecast Today Live Updates

पीएम मोदी ने टैक्सपेयर्स और किसानों की तारीफ करते हुए कहा कि, आज गरीब को, ज़रूरतमंद को, सरकार अगर मुफ्त अनाज दे पा रही है तो इसका श्रेय दो वर्गों को जाता है। पहला- हमारे देश के मेहनती किसान,  हमारे अन्नदाता।  और दूसरा- हमारे देश के ईमानदार टैक्सपेयर।आपने ईमानदारी से टैक्स भरा है, अपना दायित्व निभाया है, इसलिए आज देश का गरीब, इतने बड़े संकट से मुकाबला कर पा रहा है।मैं आज हर गरीब के साथ ही,  देश के हर किसान, हर टैक्सपेयर का ह्रदय से बहुत बहुत अभिनंदन करता हूं।

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बहुत गंभीरता से नियमों का पालन किया गया था।अब सरकारों को, स्थानीय निकाय की संस्थाओं को, देश के नागरिकों को, फिर से उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है।विशेषकर कन्टेनमेंट जोंस पर हमें बहुत ध्यान देना होगा।जो भी लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे, हमें उन्हें टोकना होगा,  रोकना होगा और समझाना भी होगा। लॉकडाउन के दौरान देश की सर्वोच्च प्राथमिकता रही कि ऐसी स्थिति न आए कि किसी गरीब के घर में चूल्हा न जले।

केंद्र सरकार हो, राज्य सरकारें हों, सिविल सोसायटी के लोग हों, सभी ने पूरा प्रयास किया कि इतने बड़े देश में हमारा कोई गरीब भाई-बहन भूखा न सोए। देश हो या व्यक्ति, समय पर फैसले लेने से,  संवेदनशीलता से फैसले लेने से,  किसी भी संकट का मुकाबला करने की शक्ति बढ़ जाती है।  इसलिए, लॉकडाउन होते ही सरकार, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना लेकर आई।

संबोधन के अंत में पीएम मोदी ने कहा कि, फिर से एक बार मैं आप सब से प्रार्थना करता हूँ, आपके लिए भी प्रार्थना करता हूँ, आपसे आग्रह भी करता हूँ , आप सभी स्वस्थ रहिए, दो गज की दूरी का पालन करते रहिए, गमछा , फेस कवर, मास्क ये हमेशा उपयोग कीजिये, कोई लापरवाही मत बरतिए।।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*