फेक पायलट लाइसेंस: पाकिस्तान एयरलाइंस को 6 महीने तक यूरोप में उड़ान भरने की मनाही


यूरोपीय संघ की विमानन सुरक्षा एजेंसी ने मंगलवार (30 जून) को कहा कि पाकिस्तान की राष्ट्रीय एयरलाइन को कम से कम छह महीने तक यूरोप में उड़ान भरने की अनुमति नहीं दी जाएगी। यह फैसला पाकिस्तान के के विमानन मंत्री के इस वक्तव्य के बाद आया हे कि लगभग एक तिहाई पाकिस्तानी पायलटों ने पायलट की अपनी परीक्षा धोखाधड़ी से पास की है।

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) के प्रवक्ता अब्दुल्ला हफीज ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण पीआईए यूरोप के लिए उड़ान नहीं भर रही है, लेकिन विमानन कंपनी को अगले दो महीनों के भीतर ओस्लो, कोपेनहेगन, पेरिस, बार्सिलोना और मिलान के लिए फिर से उड़ान शुरू करने की उम्मीद की थी। उन्होंने पायलट धोखाधड़ी कांड के बारे में कहा, ”हमें वास्तव में बहुत बुरा लग रहा है।”

पायलटों के कोरोना वायरस की बातों में मशगूल रहने की वजह से हुआ था PIA का प्लेन क्रैश

कराची में 22 मई को एक पीआईए विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के चलते 97 लोगों की मौत की जांच में पता चला कि पाकिस्तान में 860 पायलटों में 260 ने अपनी पायलट परीक्षा में धोखाधड़ी की थी, लेकिन फिर भी नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने उन्हें लाइसेंस दे दिए। 

पाकिस्तान की सरकार ने नियामक एजेंसी के चार अधिकारियों को निकाल दिया है और दोषियों पर मुकदमा चलाया जा रहा है। यूरोपीय संघ की विमानन सुरक्षा एजेंसी ने कहा कि वह पाकिस्तानी पायलटों के लाइसेंस की वैधता को लेकर चिंतित है और ऐसे में पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार परिचालन और विमानों की देखरेख करने में सक्षम नहीं है। 





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*