बेहद तनावपूर्ण स्थिति में चीन-भारत, हम करेंगे मदद: डोनाल्ड ट्रंप


पूर्वी लद्दाख के गलवान क्षेत्र में भारत और चीन सेना के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मदद की बात कही है। ट्रंप ने कहा कि भारत और चीन के बीच सीमा पर जारी तनाव को कम करने की खातिर अमेरिका दोनों देशों से बात कर रहा है। अमेरिका के राष्ट्रपति ने भारत और चीन के बीच तनाव को दुनिया के लिए हानिकारक बताते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच हुई हिंसक झड़प की खबर सुनकर मैं भी बहुत चिंतित हुआ।

ओकलाहोमा में कोरोना संकट के बीच अपनी पहली चुनावी रैली को संबोधित करने जाने के लिए मरीन वन पर सवार होने से पहले ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, “ये बहुत मुश्किल परिस्थति है। हम भारत से बात कर रहे हैं। हम चीन से भी बात कर रहे हैं। वहां उन दोनों के बीच बड़ी समस्या है। दोनों एक दूसरे के सामने आ गए हैं और हम देखेंगे कि आगे क्या होगा। हम उनकी मदद करने की कोशिश कर रहे हैं।”

27 मई को एक ट्वीट में ट्रंप ने कहा था, “हमने भारत और चीन दोनों को सूचित कर दिया है कि उनके सीमा विवाद पर अमरीका मध्यस्थता करने को इच्छुक और समर्थ है।” भारत और चीन के बीच तनाव पर अमरीका नज़र रखे हुए है। हाल ही में अमरीका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने ट्वीट कर भारत के साथ संवेदना जताई थी। माइक पोम्पियो ने कहा था, “हम चीन के साथ हाल में हुए संघर्ष की वजह से हुई मौतों के लिए भारत के लोगों के साथ गहरी संवेदना जताते हैं। हम इन सैनिकों के परिवारों, उनके आत्मीय जनों और समुदायों का स्मरण करेंगे। ऐसे समय जब वो शोक मना रहे हैं।”

बता दें 15-16 जून की रात गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच हुए हिंसक संघर्ष में भारत के कमांडिंग ऑफ़िसर समेत बीस सैनिक शहीद हो गए थे। कई मीडिया रिपोर्ट्स में चीन के भी कई सैनिकों के हताहत होने की ख़बर है लेकिन चीन ने आधिकारिक आंकड़ा जारी नहीं किया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। में रुचि है तो



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई






Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*