मंत्री-विधायकों का मुख्यमंत्री आवास पर आना जारी; एसओजी के नोटिस पर सीएम बोले- यह सामान्य प्रक्रिया, अन्यथा न लें


  • शांति धारीवाल, गोविंद डोटासरा, महेश जोशी समेत कई नेता मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिले
  • सचिन पायलट और करीब 12 विधायक दिल्ली में मौजूद, कांग्रेस आलाकमान से मुलाकात संभव

दैनिक भास्कर

Jul 12, 2020, 04:54 PM IST

जयपुर. राजस्थान में कांग्रेस सरकार के बीच अंदरखाने के मनमुटाव ने आलाकमान की टेंशन बढ़ा दी है। एक तरफ उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट में दिल्ली में डेरा डाले हैं तो जयपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सुबह से मंत्री और विधायकों को लामबंद कर रहे हैं। सभी से एक-एक कर मुलाकात की जा रही है।

उधर, विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में एसओजी के नोटिस से रार बढ़ने की चर्चाओं पर मुख्यमंत्री गहलोत ने ट्वीट किया है। उन्होंने कहा कि यह सामान्य प्रक्रिया है, इसे अलग तरह से नहीं लिया जाना चाहिए। गहलोत का यह बयान तब आया, जब मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आया कि पायलट पुलिस का नोटिस मिलने से नाराज हैं।

पायलट समेत 13 निर्दलीय विधायकों को नोटिस

राजस्थान पुलिस की एसओजी टीम कांग्रेस सरकार को गिराने की साजिश के मामले में जांच कर रही है। पुलिस की ओर से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उपमुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट समेत सभी 13 निर्दलीय विधायकों को नोटिस भेजे गए हैं। इसमें कहा गया है कि विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में उनके बयान दर्ज किए जाने हैं, इसके लिए वे समय दे सकते हैं और मुलाकात की जगह से अवगत कराएं। 

जयपुर में मुख्यमंत्री आवास पर हलचल बढ़ गई है। दिनभर मंत्री विधायक मिलने आते रहे। फोटो : महेंद्र शर्मा 

एसओजी के नोटिस में देशद्रोह की धारा
नोटिस में आईपीसी की धारा 124 ए और 120 बी का उल्लेख किया गया है। चूंकि, धारा 124ए से देशद्रोह से जुड़ी है। इसके तहत कोई भी नागरिक सरकार विरोधी सामग्री लिखता या बोलता है या फिर ऐसी सामग्री का समर्थन करता है या राष्ट्रीय चिह्नों का अपमान करने के साथ संविधान को नीचा दिखाने की कोशिश करता है तो उसे तीन साल या आजीवन कारावास तक की हो सकती है।

मुख्यमंत्री आवास पर दिनभर हलचल रही और नेताओं का आना जारी रहा। मीडियाकर्मियों का भी जमावड़ा लगा रहा।
मुख्यमंत्री आवास पर कांग्रेस नेताओं का आना जारी रहा। मीडियाकर्मियों का भी जमावड़ा लगा रहा। फोटो : महेंद्र शर्मा

सीएम आवास पर मंत्रियों-विधायकों के आने का क्रम जारी 
रविवार को भी मुख्यमंत्री आवास पर मंत्रियों और विधायकों का आना-जाना जारी रहा। करीब 20 मंत्री और विधायक मुख्यमंत्री आवास पहुंचे।

इनमें शांति धारीवाल, गोविंद डोटासरा, महेश जोशी, सालेह मोहम्मद, टीकाराम जूली, भंवर सिंह भाटी, भजन लाल जाटव, प्रमोद जैन भया, हरीश चौधरी, महेंद्र चौधरी, बाबूलाल नागर, रामलाल जाट, जोगिंदर अवाना, राजेंद्र गुढ़ा संदीप यादव, लखन मीणा, रफीक खान, जोहरी लाल मीणा, रघुवीर मीना, शकुंतला रावत अंदर जाते देखे गए। यहां 2 दिन से कांग्रेस नेताओं के आने-जाने का क्रम चल रहा है।

दिल्ली में पायलट की मुलाकातों की जानकारी गोपनीय
दिल्ली में उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और करीब 12 विधायक डेरा डाले हुए हैं। पायलट कांग्रेस आलाकमान से मुलाकात कर सकते हैं। उनको अभी किसी से मुलाकात का समय मिला या नहीं, इस संबंध में पुष्टि नहीं हो पाई है।

हालांकि, पहले खबरें आईं थीं कि पायलट की अहमद पटेल से मुलाकात हुई है लेकिन इसकी भी पुष्टि नहीं हो पाई है।

एसओजी का दावा- सरकार गिराने की साजिश हुई, केस दर्ज किया
एसओजी ने कांग्रेस सरकार गिराने की साजिश का खुलासा किया और शुक्रवार को केस दर्ज किया था। एसओजी के अनुसार, उसने अवैध हथियार और विस्फोटक सामग्री की तस्करी से जुड़े मामले में दो मोबाइल नंबरों को सर्विलांस पर लगाया था। बातचीत में सामने आया कि राज्यसभा चुनाव से पहले सरकार गिराने की साजिश रची गई थी।

विधायकों को 25-25 करोड़ रुपए देने की बात भी सामने आई है। एटीएस और एसओजी के एडीजी अशोक राठौड़ का कहना है कि बातचीत में सरकार गिराने, नई सरकार बनाने और विधायकों की कमाई का पूरा ब्योरा है। इन नंबरों के संचालकों को हिरासत में ले लिया गया है। उदयुपर से अशोक सिंह चौहान, ब्यावर से भारत भाई को पकड़ा है। एसओजी की टीम इन दोनों से पूछताछ करेगी।

राजस्थान के सियासी हलचल से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें … 
1. सिंधिया-पायलट की दोस्ती और सियासी संकट? / पायलट के साथ 15 विधायक, क्या राजस्थान में भी दोहराई जा सकती है मध्य प्रदेश की कहानी?

2. राजस्थान सरकार सोशल मीडिया पर ट्रोल / एक यूजर ने लिखा- क्या सचिन पायलट अगले सिंधिया होंगे, दूसरा बोला- आत्मनिर्भर बनिए गहलोतजी!

3. राजस्थान के सियासी घमासान पर ग्राउंड रिपोर्ट / मंत्री-विधायकों का मुख्यमंत्री आवास पर आना जारी; एसओजी के नोटिस पर सीएम बोले- यह सामान्य प्रक्रिया, अन्यथा न लें

4. सचिन पायलट भाजपा नेताओं के संपर्क में, गहलोत ने सभी मंत्रियों-विधायकों की बैठक बुलाई





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*