महिला मंत्री को लेकर टिप्पणी पर कमलनाथ की सफाई, आइटम असम्मानजनक शब्द नहीं; मैं भी आइटम हूं आप भी आइटम हैं


मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर शब्दों का अनर्थ करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इसके जरिए दुष्प्रचार किया जा रहा है। कमलनाथ ने रविवार रात में जारी एक बयान में कहा है कि अभी चुनाव में 15 दिन बचे हैं और शब्दों के अर्थ बदल कर चुनाव जीतने की कोशिश की जा रही है। 

कमलनाथ ने कहा कि जनता पूछ रही है कि 2018 के दृष्टि पत्र में 10 लाख नौकरियां देने का वादा किया गया था, तो इन 7 महीनों में कितनी नौकरियां दीं। उत्तर देने की बजाय शिवराज सिंह चौहान कह रहे हैं कमलनाथ ने आइटम कहा। कमलनाथ ने कहा कि हां मैंने आइटम कहा है क्योंकि यह कोई असम्मानजनक शब्द नहीं है। मैं भी आइटम हूं आप भी आइटम हैं और इस अर्थ में हम सभी आइटम है। 

यह भी पढ़ें- इमरती देवी पर कमलनाथ के बयान पर मचा बवाल, शिवराज कल देंगे मौन धरना

कमलनाथ का दावा है कि लोकसभा और विधानसभा में कार्यसूची को आइटम नंबर लिखा जाता है, पुरस्कार वितरण कार्यक्रम में भी आइटम नंबर लिखा जाता है। क्या यह असम्मानजनक है? मध्य प्रदेश की जनता जब खून के घूंट पी रही है तो उसके आंसू पौंछने की बजाय आपकी पार्टी मेरे कोक पीने को मुद्दा बना रही है। 

कमलनाथ ने कहा कि क्या यह कोई मुद्दा है? क्या इससे जनता का जीवन जुड़ा है। उन्होंने कहा कि यह तो बताएं कि अगर कमलनाथ कोक पीना बंद कर दें, तो क्या प्रदेश में माफिया राज रुक जाएगा। बलात्कार रुक जाएंगे। किसानों की आत्महत्या रुक जाएंगी। कमलनाथ ने कहा कि सहानुभूति और दया बटोरने की कोशिश वही लोग करते हैं जिन्होंने जनता को धोखा दिया हो। जिनके पास जनता का सामना करने के लिए कोई सच ना हो।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*