राज्यसभा की 19 सीटों पर पूरा हुआ मतदान, मतगणना शुरू, थोड़ी देर में आएगा परिणाम


देश के आठ राज्यों की 19 राज्यसभा सीटों के लिए मतदान पूरा हो चुका है। अब मतगणना का काम चल रहा है और थोड़ी ही देर में सभी सीटों पर परिणाम की घोषणा कर दी जाएगी। बता दें कि राज्यसभा की 19 सीटों में आंध्रप्रदेश की चार, गुजरात की चार, मध्यप्रदेश में तीन, राजस्थान में तीन, झारखंड में दो और मणिपुर, मिजोरम और मेघालय में एक-एक सीट पर मतदान पूरा हुआ। बता दें कि पहले ये चुनाव इस साल 26 मार्च को होने थे, लेकिन देश में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के प्रसार के चलते इन्हें भारतीय निर्वाचन आयोग ने ये चुनाव स्थगित कर दिए थे। जानिए किस राज्य में क्या है स्थिति…

गुजरात : गुजरात में राज्यसभा की चार सीटों के लिए कांग्रेस और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर है। दोनों ही पार्टियों में से किसी के पास भी पूर्ण संख्या नहीं है। भाजपा ने चार सीटों के लिए तीन उम्मीदवार उतारे हैं, वहीं कांग्रेस ने दो उम्मीदवारों को टिकट दिया है। भाजपा यहां अपनी संख्या के मुताबिक दो सीटों पर आसानी से जीत सकती है जबकि कांग्रेस को भी एक सीट मिल सकती है लेकिन चौथी सीट के लिए दोनों पार्टियों के बीच कड़ा मुकाबला है।

मध्यप्रदेश : मध्यप्रदेश से राज्यसभा की तीन सीटों के चुनाव के लिये भाजपा ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी को उम्मीदवार बनाया है जबकि कांग्रेस की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और वरिष्ठ दलित नेता फूल सिंह बरैया उम्मीदवार हैं। दिग्वियज सिंह दूसरी दफा राज्यसभा में जाने के लिये प्रत्याशी हैं। मध्य प्रदेश विधानसभा में कुल 230 सीटें हैं तथा फिलहाल 24 सीटें रिक्त होने की वजह से विधानसभा की प्रभावी संख्या 206 है। इसमें भाजपा के 107, कांग्रेस के 92, बसपा के दो, सपा का एक तथा चार निर्दलीय विधायक हैं। इस स्थिति में राज्यसभा में निर्वाचन के लिए किसी भी उम्मीदवार को 52 मतों की जरुरत होगी।

राजस्थान : राजस्थान से राज्यसभा की तीन सीटों के लिए मतदान हुआ। कांग्रेस ने के सी वेणुगोपाल और नीरज डांगी को मैदान में उतारा है जबकि भाजपा ने राजेन्द्र गहलोत और ओंकार सिंह लखावत को उम्मीदवार बनाया है। यहां सत्ताधारी कांग्रेस और विपक्षी भाजपा ने अपनी अपनी पार्टियों और उनको सर्मथन दे रहे विधायकों को अलग अलग होटलों में रुकवा रखा था। ये सभी विधायक अलग अलग बसों से विधानसभा पहुंचे और मतदान किया।

झारखंड : राज्यसभा की दो सीटों के लिए चुनावी मैदान में सत्ताधारी झारखंड मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष शिबू सोरेन के अलावा मुख्य विपक्षी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश और कांग्रेस के शहजादा अनवर उम्मीदवार हैं। राज्य की दोनों सीटें निर्दलीय परिमल नाथवानी और राष्ट्रीय जनता दल के प्रेमचंद्र गुप्ता का कार्यकाल पूरा होने से रिक्त हुई है। झामुमो के अध्यक्ष शिबू सोरेन एवं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश का चुनाव लगभग तय माना जा रहा है। 81 सदस्यीय झारखंड विधानसभा में इस समय दो सीटें खाली हैं लिहाजा 79 सदस्यीय सदन में किसी भी उम्मीदवार को चुनाव जीतने के लिए कम से कम 27 मतों की आवश्यकता होगी और विधानसभा में अभी मुख्य सत्ताधारी झारखंड मुक्ति मोर्चा के 29 विधायक हैं जबकि मुख्य विपक्षी भाजपा के कुल 26 विधायक हैं।

आंध्र प्रदेश : आंध्र प्रदेश में चारों रिक्त सीटों के लिए वाईएसआर कांग्रेस ने अपने उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं और 175 सदस्यीय विधानसभा में 151 विधायकों की संख्या बल के साथ सभी सीटों पर उसका आराम से जीतना तय है। तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) ने भी अपना प्रत्याशी मैदान में उतारा है जिसके कारण चुनाव कराने पड़े। उसे महज 20 मत मिल सकते हैं जो जरूरी संख्या से कम से कम 16 कम है।

मणिपुर : मणिपुर में सत्तारूढ़ गठबंधन के नौ सदस्यों के इस्तीफे के कारण स्थिति पेचीदा हो गई है। भाजपा ने यहां की एक सीट पर लीसेम्बा सानाजाओबा को और कांग्रेस ने टी मंगी बाबू को उम्मीदवार बनाया है। बता दें कि उपमुख्यमंत्री वाई जॉयकुमार सिंह, आदिवासी एवं पर्वतीय क्षेत्र विकास मंत्री एन कायिशी, युवा मामलों और खेल मंत्री लेतपाओ हाओकिप और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री एल जयंत कुमार सिंह ने बुधवार को मंत्री पदों से इस्तीफा दे दिया था। इसके अलावा, भाजपा विधायक एस सुभाषचंद्र सिंह, टीटी हाओकिप और सैमुअल जेंदई ने विधानसभा और पार्टी से इस्तीफा दिया था।

मिजोरम : मिजोरम में राज्यसभा की एक सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला है। सत्तारूढ़ मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) ने के कनललवेना को उम्मीदवार बनाया है जबकि जोरम पीपुल्स मूवमेंट (जेडपीएम) ने बी लालछनजोवा और कांग्रेस ने लल्लिंछुंगा को उम्मीदवार बनाया है। 40 सदस्यों वाली मिजोरम विधानसभा में एमएनएफ के 27 सदस्य हैं जबकि जेडपीएम के सात, कांग्रेस के पांच और भाजपा का एक विधायक है।

मेघालय : मेघालय डेमोक्रेटिक अलायंस (एमडीए) ने राज्य से राज्यसभा की एकमात्र सीट के लिए एनपीपी के प्रदेश अध्यक्ष डब्ल्यूआर खरलुखी का नाम सामने रखा है। वहीं विपक्षी कांग्रेस ने पूर्व विधायक कैनेडी खीरीयम को मैदान में उतारा है। 60 सदस्यीय मेघालय विधानसभा में कांग्रेस के 19 विधायक हैं।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*