सप्ताह में एक दिन व्यायाम से ब्रेक लेने के 4 फायदे


अमरीकी फिटनेस फर्म ‘एलआईटी मेथड’ का कहना है कि रोज एक्सरसाइज से फायदे कम और नुकसान ज्यादा हो सकता है।

व्यायाम करना सेहत के लिए फायदेमंद है लेकिन रोज-रोज पसीना बहाने से दिक्कत हो सकती है। अमरीकी फिटनेस फर्म ‘एलआईटी मेथड’ का कहना है कि रोज एक्सरसाइज से फायदे कम और नुकसान ज्यादा हो सकता है। इसलिए सप्ताह में एक दिन आराम करना चाहिए।
1-दिमाग को भी आराम
रोज व्यायाम से स्ट्रेस हार्मोन ‘कोर्टिसोल’ बढ़ता और दिमाग को संदेश जाता है कि शरीर मेहनत कर रहा है। ग्लूकोज को भविष्य में उपयोग के लिए शरीर में एकत्रित करने लगता है। ब्रेक लेने से दिमाग को भी आराम मिलता है। फैट-कॉर्बोहाइड्रेट के ऊर्जा में बदलने की गति धीमी होती है।
2-मरम्मत के लिए समय
व्यायाम से हड्डियों और मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है। इससे ऊतकों को नुकसान भी होता है। सप्ताह में एक दिन आराम करने से नुकसान हुए ऊतकों की मरम्मत के लिए समय मिलता है जबकि रोज व्यायाम से ऊतकों की मरम्मत नहीं हो पाती है।
3-चोट लगने की आशंका घटती
नियमित व्यायाम से मांसपेशियों में खिंचाव और जोड़ों में दर्द की समस्या हो सकती है। भावनात्मक स्तर पर सुस्ती हो सकती है। रोज व्यायाम करते हैं तो एक समय ऐसा आएगा कि व्यायाम करने की अंदर से इच्छा नहीं होगी। शोधकर्ताओं का कहना है कि बड़े-बड़े खिलाड़ी भी इसलिए ब्रेक लेते हैं। इससे वे तन-मन से खेल पर ज्यादा ध्यान देने के लिए प्रेरित हो पाते हैं। सामान्य व्यक्ति को एक दिन का ब्रेक लेना चाहिए।
4-नई ऊर्जा मिलती
एक्सरसाइज से ब्रेक लेना मांसपेशियों का घनत्व बढ़ाने में भी असरदार है। इससे शरीर, नई ऊर्जा के साथ कसरत करने के लिए प्रेरित होता है। आराम के दिन अच्छी नींद लेने और मन पंसद काम करने की सलाह दी जाती है ताकि ‘फील गुड’ हार्मोन का स्त्राव हो। ब्रेक के दिन हल्का वॉक करने से कोई दिक्कत नहीं होती है।









Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*