सुशांत सिंह राजपूत की डायरी: मिशन हॉलीवुड और 50 करोड़ रुपये का रखा था लक्ष्‍य


सुशांत की गिनती बॉलीवुड के प्रतिभाशाली युवा एक्‍टरों में होती थी

मुंबई :

बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) अपने काम को लेकर बेहद समर्पित थे. फिल्‍म में जो वे भी किरदार निभाने वाले होते थे, उसको लेकर पूरी स्‍टडी करते थे, यहां तक कि अपने लक्ष्‍यों को भी वे निर्धारित करते थे और उस दिशा में मजबूती से आगे बढ़ते थे. यह खुलासा इस दिवंगत बॉलीवुड स्‍टार की डायरी के लीक हुए खास पन्‍नों से तो 34 वर्षीय सुशांत करीब दो माह पहले अपने के मुंबई स्थित आवास में मृत पाए गए थे. उनके निधन से बड़ी संख्‍या में उनके फैंस को गहरा सदमा लगा था.

यह भी पढ़ें

सुशांत केस: बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, क्यों पटना में दर्ज की गई FIR

बॉलीवुड के युवा प्रतिभावान कलाकारों में से एक सुशांत बेहद महत्‍वाकांक्षी और अपने काम को लेकर बेहद समर्पण भाव रखते थे. उनकी डायरी से इस बात का खुलासा होता है. उन्‍होंने अपने रोल को लेकर विस्‍तार से नोट लिखे थे. इससे पता चलता है कि किरदार को ‘जीने’ के लिए किस कदर मेहनत करते थे. उन्‍होंने डायरी में यह भी लिखा था कि वर्ष 2020 के अंत तक वे किन लक्ष्‍यों को हासिल करना चाहते हैं. अपने एक्टिंग कौशल को निखाने के लिए हॉलीवुड के टॉप एजेंसी से जुड़ना, शीर्ष कलाकारों के संपर्क में रहना और सिनेमा, एजुकेशन आदि में अपने को अपग्रेड करते रहने के गोल उन्‍हें अपने लिए तय कर रखे थे. अपने लक्ष्‍यों में उन्‍होंने ‘संपत्ति निर्माण’ सेक्‍शन के तहत ‘रुपये 50 करोड़’ लिख रखा था. इसके साथ ही ‘विजन’ नाम के सेक्‍शन में उन्‍होंने इसी साल हॉलीवुड में पूरी उपस्थिति दर्ज कराने की बात लिखी थी. 

NDTV यह स्‍पष्‍ट करना चाहता है कि डायरी के ये पन्‍ने किसी खास आर्डर में नहीं हैं और ये कंप्‍लीट नहीं हैं. डायरी के कुछ हिस्‍से हो ही शेयर किया गया है.

बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत 14 जून केा अपने मुंबई स्थित आवास में मृत पाए गए थे. मंबई पुलिस ने इसे खुदकुशी का मामला बताया है. सुशांत की मौत को लेकर अलग-अलग बातों और दावों के चलते बीजेपी ने सीबीआई जांच की मांग की है. शिवसेना के नेतृत्‍व वाली गठबंधन सरकार ने अब तक इस मांग को स्‍वीकार नहीं किया है. गौरतलब है कि सुशांत मामले में उनके पिता ने बिहार में एफआईआर दर्ज कराई है, बिहार सरकार ने इसकी सीबीआई जांच का आदेश दिया है. इस बीच, सुशांत सिंह राजपूत मामले (Sushant Singh Rajput Case) में महाराष्ट्र सरकार ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में लिखित दलील दाखिल की है. महाराष्ट्र सरकार ने अपनी लिखित दलील में कहा कि पटना में FIR दर्ज करना दुर्भावनापूर्ण है. एकल जज पीठ सीबीआई जांच के आदेश जारी नहीं कर सकती. सीबीआई को केस ट्रांसफर करने का कोई कारण नहीं है. सुशांत मामले की जांच मुंबई पुलिस के हवाले की जाए. राज्य सरकार ने पटना में दर्ज एफआईआर को राजनीति से प्रेरित बताया है.

सुशांत मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्डरिंग का केस दर्ज किया



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*