स‍ितंबर में ग्रहों का यह खेल ला रहा है खुशखबरी


माना जाता है क‍ि इस पृथ्‍वी पर जो भी कुछ घटि‍त हो रहा है उसके पीछे ग्रहों का खेल है। ग्रह ही देश और व्‍यक्‍त‍ि के साथ घटनाक्रम को नया मोड देते हैं। स‍ितंबर में ग्रहों का राश‍ि पर‍िवर्तन, वक्री और मार्गी के योग बन रहे हैं। ग्रहों का यह राश‍ि पर‍िवर्तन देश एवं व्‍यक्‍ति‍यों के जीवन में व्‍यापक बदलाव लाएंगे। ग्रहों का यह बदलाव देश और लोगों के जीवन में भी बदलाव लाएगा। सरकार जनता के लिए कल्‍याणकारी योजनाएं लाएगी।

कोरोना संक्रमण से त्रस्‍त जनता को राहत म‍िलने की उम्‍मीद है। भव‍िष्‍य में देश प्रगत‍ि के पथ पर आगे बढ़ने लगेगा। ज्‍योत‍ि‍षाचार्य पं.शि‍वकुमार शर्मा के अनुसार स‍ितंबर में सूर्य, मंगल, बुध, शुक्र और केतु के संचरण में बदलाव हो रहा है। इसमें मंगल दस स‍ितंबर को मार्गी होंगे। इससे लोगों को स्‍वास्‍थ्‍य लाभ म‍िलेगा। आर्थ‍िक स्‍थि‍त‍ि बेहतर होगी। मेष रा‍श‍ि में वक्री मंगल युद्धोत्‍पात, अग्‍न‍ि‍कांड, आगजनी और उपद्रव का कारण बनेगा। 

यह भी पढ़ें: शुभ संकेत नहीं है इस रेखा पर धब्‍बे का होना

कल यानि‍ दो स‍ितंबर को बुध कन्‍या राश‍ि में 12:04 बजे प्रवेश करेंगे। सूर्य 16 स‍ितंबर को कन्‍या राश‍ि में 19:07 बजे आएंगे। आज एक स‍ितंबर को शुक्र कर्क राश‍ि में सुबह 4:03 बजे प्रवेश कर जाएंगे जो देश को प्रगत‍ि के पथ पर अग्रसर करेंगे। राहु-केतु 23 स‍ितंबर को 8:20 पर अपनी वक्री चाल से चलते हुए राहु, वृषभ राशि‍ में और केतु वृश्‍च‍िक राश‍ि में पदार्पण करेंगे।

शुक्र की म‍ित्र राश‍ि वृषभ में राहु म‍ित्रवत फल देगा। राजनीत‍ि लोगों के ल‍िए वर्चस्‍व की लड़ाई जारी रहेगी। छल और प्रपंच का बोलबाला होगा। इन रा‍श‍ि पर‍िवर्तन का जनमानस पर अनुकूल असर पड़ेगा। नौकरीपेशा व्‍यक्‍त‍ियों की स्‍थित‍ियां पहले जैसी बहाल होती चली जाएंगी। व्‍यापार में अनुकूल प्रगति होती नजर आएगी। क्रूर एवं पाप ग्रह मंगल, राह- केतु का दुष्‍प्रभाव लोगों को भ्रमि‍त करेगा। क्रोध्र की भावना जागृत होगी। सीमा पर युद्ध का माहौल बना रहेगा।   
(ये जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।) 

 





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*