COVID-19 कैपिटल बन गया है महाराष्ट्र, देश में 40% मौतें सूबे से- बोले पूर्व CM देवेंद्र फड़णवीस


महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने सूबे में कोरोना वायरस महामारी की स्थिति के बारे में भी चिंता प्रकट करते हुए कहा कि यह ‘‘कोविड-19 की राजधानी’’ बन गया है।

भाजपा नेता ने इस बात का जिक्र किया कि महाराष्ट्र में, देश में कोरोना वायरस संक्रमण के सर्वाधिक मामले सामने आये हैं और कुल मौतों में 40-41 प्रतिशत भी राज्य में ही हुई है। उन्होंने कहा, ‘‘दुर्भाग्य से महाराष्ट्र कोविड-19 की राजधानी बन गया है…महाराष्ट्र में कोविड-19 महामारी की स्थिति नाजुक है।’’

बता दें कि शनिवार को सूबे में कोविड-19 के 12,614 नए मामले सामने आए तथा इस महामारी से 322 और लोगों की मौत हो गई।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के 12,614 नए मामलों के साथ ही इस महामारी के कुल मामलों की संख्या 5,84,754 हो गई है। इसके अलावा 322 और लोगों की मौत के साथ मृतकों की कुल संख्या बढ़कर अब 19,749 हो गई है।

विभाग ने एक बयान में किहा कि शनिवार को 6,844 रोगियों को ठीक होने के बाद छुट्टी मिल गई जिससे ठीक हुए कुल लोगों की संख्या 4,08,286 हो गई है। राज्य में वर्तमान में कोविड-19 के 1,56,409 उपचाराधीन मामले हैं।

कोविड-19 से ठीक होने की दर 71.61 प्रतिशत: देश में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए 18 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 57,381 मरीजों को छुट्टी मिलने के बाद ठीक होने की दर 71.61 प्रतिशत हो गयी है।

मंत्रालय के मुताबिक भारत की ‘जांच, संपर्क का पता लगाने और उपचार’ की नीति के मद्देनजर पिछले 24 घंटे में कोविड-19 की 8,68,679 जांच की गयी। कुल मिलाकर 2.85 करोड़ से ज्यादा जांच हो चुकी है।

मंत्रालय के मुताबिक 12 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से अधिक है। साथ ही, 30 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में ठीक होने की दर 50 प्रतिशत से अधिक है।

दिल्ली में ठीक होने की दर सर्वाधिक 89.87 प्रतिशत है । इसके बाद तमिलनाडु में 81.62 प्रतिशत, गुजरात में 77.53 प्रतिशत, मध्यप्रदेश में 74.70 प्रतिशत, पश्चिम बंगाल में 73.25 प्रतिशत, राजस्थान में 72.84 प्रतिशत, तेलंगाना में 72.72 प्रतिशत और ओडिशा में 71.98 प्रतिशत है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। में रुचि है तो



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई






Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*