Less likely to spread coronavirus from animals; keep distance from domesticated animals if you are sick; German Shepherd has died in America | संक्रमित इंसान से जानवरों को भी कोरोना का खतरा, अमेरिका में जर्मन शेफर्ड की हो चुकी है मौत; इसलिए आप बीमार हैं तो पेट्स से रखें दूरी


  • Hindi News
  • Utility
  • Less Likely To Spread Coronavirus From Animals; Keep Distance From Domesticated Animals If You Are Sick; German Shepherd Has Died In America

17 मिनट पहलेलेखक: निसर्ग दीक्षित

  • कॉपी लिंक
  • अमेरिकी हेल्थ एजेंसी सीडीसी के अनुसार, यह वायरस कुछ हालात में इंसान से जानवरों में फैल सकता है, पर अभी रिसर्च जारी
  • अपने पालतू जानवरों को साफ रखें, पर उनपर कैमिकल डिसइंफेक्टेंट, अल्कोहल, हाइड्रोजन पैरॉक्साइड का इस्तेमाल न करें

क्या इंसान से इंसान में फैलने वाला कोरोनावायरस संक्रमण जानवरों से भी हो सकता है? इस बात का पता करने के लिए कई स्टडीज और रिसर्च जारी हैं। दुनिया में कोरोना के कुछ मामले जानवरों में भी देखने को मिले हैं। हालांकि, ऐसे मामलों की संख्या बहुत कम है। खास बात यह है कि संक्रमण का शिकार हुए जानवरों में से ज्यादातर कोविड 19 मरीज के संपर्क में आए थे। सेंटर्स फॉर डिसीज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल के मुताबिक, फिलहाल इस बात का कोई सबूत नहीं हैं कि जानवर कोविड 19 के वायरस को फैलाने में बड़ी भूमिका निभाते हैं। लेकिन, इंसान से जानवरों को कोरोना का खतरा हो सकता है।

कोरोनावायरस कई बड़े वायरसों का परिवार है। कुछ कोरोनावायरस लोगों में सर्दी जैसी बीमारी का कारण बनते हैं, तो कुछ गाय-भैंस, ऊंट और चमगादड़ जैसे पशुओं को बीमार करते हैं। कैनाइन और फैलाइन जैसे कुछ कोरोनावायरस केवल जानवरों को ही अपना शिकार बनाते हैं। इंसान इससे संक्रमित नहीं हो सकते।

इंसान से जानवरों में कोविड 19 फैलने का जोखिम
एक्सपर्ट्स अभी भी लगातार इस वायरस को समझने में लगे हुए हैं। सीडीसी के अनुसार, ऐसा लगता है कि यह वायरस कुछ हालात में इंसान से जानवरों में फैल सकता है। खासकर तब जब पालतू जानवर किसी कोविड 19 के मरीज के संपर्क में आया हो। भोपाल के वेटरनरी डॉक्टर बृजेश गुप्ता जूनोटिक बीमारी का जिक्र करते हैं।

डॉक्टर गुप्ता बताते हैं ” जूनोटिक बीमारी आदमी से जानवर से और जानवर से आदमी में ट्रांसफर होती है, जैसे- टीबी, रेबीज। फिलहाल कोविड 19 जूनोटिक बीमारी नहीं है। हालांकि भविष्य में क्या होगा यह साफ नहीं है। “

हाल ही में अमेरिका में रहने वाले 7 साल के जर्मन शेफर्ड डॉग बडी की मौत हुई है। नेशनल जियोग्राफिक के मुताबिक, बडी कोरोनावायरस से संक्रमित होने वाला पहला अमेरिकी डॉग था। इसके अलावा मार्च की शुरुआत में न्यूयॉर्क के ब्रॉन्क्स जू में चार साल की बाघिन नादिया कोविड 19 पॉजिटिव पाई गई थी।

अडॉप्ट करना भी सुरक्षित है
इसके अलावा अगर आप किसी शेल्टर होम से भी जानवर को अडॉप्ट करना चाहते हैं तो यह सुरक्षित होगा। डॉक्टर गुप्ता बताते हैं कि अगर कोई संक्रमित व्यक्ति जानवर को हाथ लगा रहा है तो वो खुद की साफ-सफाई रखे, क्योंकि इससे वायरस फैल सकता है। जानवर के अंदर से वायरस फैलने की संभावना नहीं है। अगर आप पेट्स अडॉप्ट करना चाह रहे हैं तो पहले उन्हें ठीक तरह से साफ करें।

अगर पेट्स बीमार हैं तो टेलीमेडिसिन का सहारा लें
दुनिया में जानवरों के कोरोनावायरस से संक्रमित होने के मामले बहुत कम हैं। इसके अलावा जितने भी मामले सामने आए हैं, उनमें से ज्यादातर कोविड 19 के मरीजों के संपर्क में आए थे। अगर आपको लग रहा है कि आपका पालतू बीमार है तो वेटरनरी डॉक्टर से संपर्क करें। अगर आपका पेट किसी संक्रमित व्यक्ति के कॉन्टैक्ट में आकर बीमार हुआ है तो उसे खुद वेटरनरी क्लीनिक न ले जाएं। डॉक्टर को इस बात की जानकारी फोन पर दें। कुछ डॉक्टर्स टेलीमेडिसिन या दूसरे तरीकों से भी चेकअप की सुविधा देते हैं।

अगर आप कोरोना पॉजिटिव हैं तो पेट का क्या?
कई मौकों पर होता है कि घर के सदस्यों के कोरोना पॉजिटिव आने पर घर का पालतू जानवर अकेला हो जाता है। ऐसे में उन्हें भी मदद और सपोर्ट की जरूरत होती है। आपके वापस लौटने तक पालतू की पूरी व्यवस्था कर दें। डॉक्टर गुप्ता बताते हैं कि अगर आप अपने पालतू को किसी और को सौंप रहे हैं तो पहले उन्हें ठीक तरह से नहला दें। जानवर के ऊपर वायरस हो सकता है अंदर नहीं। जानवर की देखभाल करना सुरक्षित है।

डॉक्टर गुप्ता के मुताबिक, अगर आपको बीमार महसूस हो रहा है या आप टेस्ट करा चुके हैं तो रिपोर्ट आने तक पालतू जानवर से दूरी बनाकर रखें। सीडीसी के अनुसार, बीमार होने पर कॉन्टैक्ट को कम कर दें। अगर आप जानवर के संपर्क में हैं तो छूने से पहले और बाद में हाथ धोने और मास्क लगाने का ख्याल रखें।

पालतू जानवरों को परिवार का सदस्य समझें और वायरस से बचाएं
जानवरों में संक्रमण को लेकर अभी भी रिसर्च जारी हैं। ऐसे में सीडीसी के अनुसार, अपने पेट्स को अपने परिवार की तरह ही समझें और उन्हें संक्रमण से बचाएं। क्योंकि इंसान से जानवर में कोविड 19 फैलने का थोड़ा जोखिम है। अभी तक इस बात का कोई सबूत नहीं है कि पालतू जानवरों की स्किन, फर या बालों से वायरस फैल सकता है।

डॉक्टर गुप्ता कहते हैं कि पालतू जानवर हमारे घर के सदस्य हैं और उनका ख्याल रखें। कोरोनावायरस के डर के कारण उन्हें घर से न निकालें। पालतू जानवर को डर के कारण घर से बाहर कर देना सही बात नहीं है, क्योंकि आप सुरक्षा के थोड़े उपाय कर उन्हें भी इस संक्रमण के जोखिम से बार निकाल सकते हैं।

0



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*