Magh Purnima 2021: माघ पूर्णिमा के दिन पवित्र नदी में क्यों किया जाता है स्नान? इन उपायों से प्रसन्न होते हैं भगवान विष्णु


Magh Purnima 2021: हिंदू पंचांग के अनुसार, माघ मास के शुक्ल पक्ष की आखिरी तिथि को माघ पूर्णिमा कहा जाता है। कहा जाता है कि माघ पूर्णिमा के दिन स्नान, दान और तप का विशेष महत्व होता है। इस दिन गंगा नदी में स्नान करना शुभ फलकारी माना जाता है। कहते हैं कि ऐसा करने से देवी-देवता प्रसन्न होते हैं और जीवन में सुख, शांति और खुशहाली आती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, माघ पूर्णिमा के दिन गंगा नदी में स्नान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। माघ पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए लोग कई तरह के उपाय करते हैं। जानिए माघ पूर्णिमा के दिन क्या करने से श्रीहरि का मिलता है आशीर्वाद-

पूजा-पाठ से मिलता है शुभ फल-

माघ पूर्णिमा के दिन पूजा-पाठ करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। कहते हैं कि ऐसा करने से घर में सुख-शांति और खुशहाली बनी रहती है।

तिल का दान करने से मिलता है पुण्य-

माघ पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु की पूजा के दौरान तिल चढ़ाने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, माघ पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु को तिल चढ़ाने और दान देने से पापों से मुक्ति मिलती है। 

वक्री शनि दो राशियों पर डालेगा सबसे ज्यादा बुरा प्रभाव, जानें आपके जीवन को कैसे करेगा प्रभावित

गीता और रामायण का पाठ करना चाहिए-

माघ पूर्णिमा में गीता और रामायण का पाठ करना उत्तम माना जाता है। कहते हैं कि ऐसा करने से देवी-देवता प्रसन्न होते हैं। धन-धान्य की कमी नहीं रहती है।

दान से मिलता है पुण्य-

माघ पूर्णिमा में दान का विशेष फल की प्राप्ति होती है। इसलिए इस दिन अपनी सामर्थ्य के हिसाब से दान जरूर करना चाहिए। कहते हैं कि माघ पूर्णिमा में अन्न, वस्त्र या धन के दान से घर में सुख-शांति बनी रहती है।

माघ पूर्णिमा 2021 तिथि और शुभ मुहू्र्त-

पूर्णिमा तिथि शुरू- 15:50- 26 फरवरी 2021
पूर्णिमा तिथि खत्म- 13:45- 27 फरवरी 2021

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

 



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*