RBSE 10th exam 2020: राजस्थान बोर्ड 10वीं की शेष परीक्षाएं आज से, परीक्षा केंद्रों पर किए ये इंतजाम


RBSE 10th exam 2020 : राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (आरबीएसई) की कक्षा 10वीं की शेष परीक्षाएं आज से शुरू होंगी। आज सुबह 8:30 बजे से सामाजिक विज्ञान का पेपर होगा। इसके बाद मंगलवार को गणित का पेपर होगा। परीक्षार्थियों को एक घंटा पहले परीक्षा केंद्रों पर पहुंचने के लिए कहा गया है। हिंदी, इंग्लिश, थर्ड लैंग्वेज और विज्ञान की परीक्षाएं पहले ही हो चुकी हैं। बताया गया है कि कक्षा 10वीं की परीक्षाएं पूर्व में छपे प्रश्न पत्रों से ही ली जाएंगी। यह परीक्षा प्रश्नपत्र प्रदेशभर में पहले से ही पहुंचे हुए हैं। नए परीक्षा केंद्रों पर भी प्रश्न पत्र पहुंचाए जा चुके हैं। बिना मास्क के छात्रों के साथ ही शिक्षकों और परीक्षा से जुड़े अन्य कर्मचारियों को भी परीक्षा केंद्र में एंट्री नहीं दी जाएगी। परीक्षा से पहले, परीक्षा के दौरान और बाद में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा। 

महामारी को देखते हुए परीक्षा केंद्र पर पूरी व्यवस्था
बोर्ड ने कोविड-19 को देखते हुए परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थियों की सुरक्षा के लिए कुछ उपाय सुनिश्चित किए हैं। इनमें जो बच्चे परीक्षा केंद्रों पर पहुंचेंगे, उन सभी का चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों द्वारा थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। साथ ही प्रत्येक बच्चे के हाथ सैनिटाइज कराए जाएंगे। परीक्षा केंद्रों में 6 फीट की दूरी एक से दूसरे बच्चे की बीच में रखी जाएगी। 

सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की परीक्षा रद्द करने की याचिका
सुप्रीम कोर्ट ने रविवार को एक अत्यावश्यक सुनवाई के दौरान राजस्थान बोर्ड द्वारा 29 और 30 जून को कराई जा रही, 10वीं की बची हुई दो परीक्षाओं को रद्द किए जाने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी। न्यायालय एक परीक्षार्थी की मां माघी देवी द्वारा दायर राजस्थान उच्च न्यायालय के 29 मई के आदेश के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई कर रहा था। उच्च न्यायालय ने भी राज्य माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा कराई जा रही बची परीक्षाओं को रद्द करने की मांग वाली याचिका को खारिज कर दिया था। 
याचिका में कहा गया कि 29 और 30 जून को होने जा रहे 10वीं कक्षा के दो बचे हुए पर्चो में 11,86,418 छात्रों के शामिल होने की संभावना है। कोविड-19 के खतरे के मद्देनजर परीक्षा को रद्द करने की मांग की गई थी। इसमें कहा गया कि बोर्ड ने आखिरी परीक्षा 18 मार्च को आयोजित की थी जिसके बाद महामारी और राष्ट्रव्यापी बंद के मद्देनजर इसे स्थगित कर दिया गया था। याचिका में यह भी कहा गया था कि परीक्षा केंद्रों के तौर पर निर्दिष्ट करीब 120 विद्यालयों को प्रवासी कागमारों द्वारा अपने मूल निवास जाने के दौरान पृथकवास केंद्र के तौर पर भी इस्तेमाल किया गया। 

कोरोना पॉजिटिव होने पर छात्र को सप्लीमेंट्री में मौका
डॉ. डीपी जारोली ने बताया है कि जो छात्र राज्य से बाहर है और परिवहन साधन उपलब्ध नहीं होने के कारण परीक्षा नहीं दे पाएंगे या फिर कोरोना पॉजीटिव या क्वारंटाइन में होने जैसे कारणों से एग्जाम में नहीं बैठ पाएंगे, उन परीक्षार्थियों की परीक्षा सप्लीमेंट्री एग्जाम के साथ ली जाएगी। गौरतलब है कि कोरोना महामारी व लॉकडाउन के चलते बोर्ड ने 19 मार्च को परीक्षाएं स्थगित कर दी थीं। इसके बाद अब ये परीक्षाएं शुरू हो रही हैं। परीक्षार्थियों के साथ ये बोर्ड की भी परीक्षा होगी क्योंकि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच बोर्ड व राज्य सरकार ने परीक्षा आयोजन का बड़ा रिस्क उठाया है।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*