Sushant Singh Rajput Suicide Case; SIT Investigation Officers Scared After Bihar Sp Vinay Tiwari Quarantine By Mumbai BMC | बिहार के डीजीपी बोले- एसपी को क्वारैंटाइन किए जाने के बाद से डरे हुए थे एसआईटी के अफसर, इन्हें भी बंद करना चाहती थी मुंबई पुलिस


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Sushant Singh Rajput Suicide Case; SIT Investigation Officers Scared After Bihar Sp Vinay Tiwari Quarantine By Mumbai BMC

पटना12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि इतने कम समय में बिहार पुलिस जितना कर सकती थी, उसने उतना किया।

  • मामले की जांच करने मुंबई गए बिहार पुलिस के अधिकारी गुरुवार को पटना लौट आए
  • एसएसपी ने टीम की लोकेशन नहीं बताई, नहीं तो उनको भी क्वारैंटाइन कर देते : डीजीपी

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले की जांच करने मुंबई गए बिहार पुलिस के अधिकारी गुरुवार को पटना लौट आए। बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि एसपी विनय तिवारी को जबरन क्वारैंटाइन किए जाने के बाद से ही एसआईटी के अधिकारी डरे हुए थे। मुंबई पुलिस इन्हें भी पकड़कर बंद करना चाहती थी।

सुप्रीम कोर्ट का आदेश नहीं मान रही मुंबई पुलिस

मुंबई पुलिस एसपी विनय तिवारी को क्वारैंटाइन से मुक्त नहीं कर रही है। मुंबई पुलिस सुप्रीम कोर्ट का आदेश भी नहीं मान रही है। यदि उन्हें सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन नहीं करना है तो यह लिखकर दें। उन्हें स्पष्ट रूप से बताना चाहिए कि उन्होंने एसपी को गिरफ्तार किया है।

एसएसपी ने टीम की लोकेशन नहीं बताई
गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि बिहार पुलिस को मुंबई पुलिस से सहयोग नहीं मिला। इसके बाद भी टीम ने जांच की। इसमें क्या बात सामने आई, वह हम उचित जगह पर बताएंगे। हमारे आईपीएस अफसर को क्वारैंटाइन कर दिया गया। इसके बाद टीम के लोग डरे हुए थे। उन्होंने जांच बंद कर दी थी। वे लोग इनको पकड़कर बंद करने के मूड में थे। हमारे सीनियर एसपी से पूछा गया कि एसआईटी के चार अधिकारी कहां ठहरे हैं। सीनियर एसपी ने समझदारी से काम लिया और उनके ठहरने की जगह नहीं बताई। उन्होंने बताया कि विनय तिवारी अभी वहीं हैं। उन्हें हाउस अरेस्ट में रखा है।

बंद कर दिए थे सारे कम्यूनिकेशन चैनल
डीजीपी ने कहा कि जब तक विनय तिवारी को क्वारैंटाइन नहीं किया गया, मैंने मुंबई पुलिस के खिलाफ कुछ नहीं बोला। मैं वहां के डीजीपी का बहुत सम्मान करता हूं। मैंने वहां के पुलिस की कभी आलोचना नहीं की, लेकिन जैसा व्यवहार हुआ है वह बहुत गलत है। हमारा फोन नहीं उठाया गया। यहां के गृह सचिव ने अपने समकक्ष से बात करने की कोशिश की, उनसे भी बात नहीं की गई। पूरे कम्यूनिकेशन चैनल को उन्होंने बंद कर दिया। बिहार पुलिस को इतने कम समय में जितना करना था किया। अब केस सीबीआई के पास है। हम जो भी सहयोग कर पाएंगे करेंगे।

ये भी पढ़ सकते हैं…

1. सीबीआई ने रिया चक्रवर्ती समेत 6 के खिलाफ केस दर्ज किया, एसआईटी बनाई, जांच का जिम्मा गुजरात कैडर के आईपीएस शशिधर को सौंपा

2. मुंबई पुलिस के डीसीपी का दावा- सुशांत के जीजा रिया को उससे अलग करना चाहते थे, उसे थाने बुलाने का दबाव भी बनाया था

0



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*