UNHCHR चीफ से भारत ने कहा- मानवाधिकार की आड़ में नहीं हो सकता नियमों का उल्लंघन


भारत ने एनजीओ पर रोक और कार्यकर्ताओं की गिरफ्तार पर यूएन हाई कमिश्नर फॉर ह्यूमेन राइट्स मिशेल बचेलेट के दिए बयान पर मंगलवार को कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की। भारत ने कहा कि मानवाधिकारों के बहाने नियमों का उल्लंघन नहीं करने दिया जा सकता है और इस बारे में अधिक जानकारी संयुक्त राष्ट्र की निकाय से अपेक्षित थी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने भी इस बात पर जोर देते हुए कहा कि भारत एक में लोकतांत्रिक व्यवस्था रही है जो कानून के नियम और स्वतंत्र न्यायपालिका पर आधारित है।

उन्होंने कहा- “हमने यूएन हाई कमिश्नर फॉर ह्यूमन राइट्स से विदेशी अंशदान विनियमन अधिनियम (फॉरेन कंट्रीब्यूशन रेगुलेशन एक्ट) पर टिप्पणियां देखी हैं। भारत एक एक लोकतांत्रिक व्यवस्था है जो कानून के नियम और स्वतंत्र न्यायपालिका पर आधारित है।”



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*